योग, सेक्स और कामसूत्र, योगासन

, Health

योग से क्या सेक्स लाइफ को स्वस्थ और तरोताजा बनाया जा सकता है? क्या कामसूत्र का योग से कोई संबंध है? भोगी रहकर क्या योगी बन सकते हैं? यह है कुछ सवाल जिनके जवाब हर कोई खोजना चाहेगा। पढ़ें चुनिंदा 6 स्टोरी..

1.यौवन का राज, नाड़ियों के पास : नाड़ी का शुद्ध और मजबूत होना जरूरी है। वायु प्रदूषण, शराब का सेवन, अन्य किसी प्रकार का नशा, अनियमित खान-पान, क्रोध, अनिंद्रा, तनाव और अत्यधिक काम और संभोग के चलते नाड़ियां कमजोर हो जाती है।

विस्तृत जानकारी के लिए आगे क्लिक करें....कैसे रखें नाड़ियों को शुद्ध

2.कैसे सुधारें सेक्स लाइफ को : तनाव भरा जीवन, नशे की प्रवृत्ति और प्रदूषण भरे माहौल में पुरुषों की सेक्स लाइफ का स्तर लगातर गिरता जा रहा है। कहते हैं कि सुखी जीवन के लिए सेक्स के प्रति संतु‍ष्टि होना आवश्यक है, जिससे जीवन के द्वंद्व मिटते हैं। इसके लिए हम लाएं हैं कुछ योगा टिप्स जो आपका जीवन बदल देंगे।

इस संबंध में विस्तृत जानकारी हेतु आगे क्लिक करें....सेक्स लाइफ को बनाएं तरोताजा

3.सेक्स से पहले योग : सेक्स से पहले योग करने से भरपूर ऊर्जा शक्ति का संचार होता है। यह ऊर्जा सेक्स के दौरान काफी लाभदायक सिद्ध हो सकती है। स्वस्थ और आनंददायक सेक्स के लिए सेक्स से पूर्व योग आपके दिमाग और माँसपेशियों को तरोताजा कर देता है।

इस संबंध में विस्तृत जानकारी हेतु आगे क्लिक करें...सेक्स से पहले योग

4.न्यूड योग : भारतीय योगियों का मोक्ष मार्ग अब विदेशों में काफी प्रचलित हो गया है। पर पश्चिमी देशों में इसके कई ऐसे रूप देखने को मिल रहे है जिनकी कल्पना तो किसी ने भी नहीं की होगी उदाहरण वर्तमान में विश्व में न्यूड योगा का प्रचलन बढ़ता ही जा रहा है।

क्या आप जानना चाहते हैं न्यूड योगा क्या है तो आगे क्लिक करें...न्यूड योगा

5.भोग, संभोग और योग : हिंदू धर्मग्रंथों में चार पुरुषार्थ बताए गए हैं- धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष। वर्तमान में मानव भोग-विलासिता और संभोग को ही जीवन माने बैठा है। लेकिन आज के युग में भोग, संभोग और योग में संतुलन बनाए रखना जरूरी है।

क्या आप जानना चाहते हैं कि भोगी रहकर कैसे योगी बन जाएं, तो आगे क्लिक करें...भोग, संभोग और योग

6.कामसूत्र और योगासन : आमतौर पर यह धारणा प्रचलित है कि संभोग के अनेक आसन होते हैं। 'आसन' कहने से हमेशा योग के आसन ही माने जाते रहे हैं। जबकि संभोग के सभी आसनों का योग के आसनों से कोई संबंध नहीं। लेकिन यह भी सच है योग के आसनों के अभ्यास से संभोग के आसनों को करने में सहजता पाई जा सकती है।

Leave a Reply