जेवर एयरपोर्ट परियोजना की जानकारी ब्रिटेन की कंपनियों ने ली और दिखाया अपना काम करने का तारीका

नोएडा । जेवर  एयरपोर्ट को लेकर ब्रिटेन की कंपनियों के प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट कंपनी लिमिटेड (निआल) के सीईओ डा. अरुणवीर सिंह के साथ हुई बैठक मे । उन्होंने एयरपोर्ट परियोजना के स्टेटस की जानकारी ली। सीईओ ने प्रस्तुतीकरण के जरिये परियोजना की जानकारी के साथ एयरपोर्ट को लेकर प्राइस वाटर हाउस कूपर (पीडब्ल्यूसी) द्वारा की गई स्टडी के आंकड़ों को साझा किया। प्रतिनिधिमंडल में मुख्य रूप से सलाहकार कंपनी के प्रतिनिधि शामिल थे।

परियोजना को लेकर सकारात्मक रुख
सीईओ ने बताया कि यूके एयरपो‌र्ट्स मिशन टू इंडिया के तहत ब्रिटेन का एक प्रतिनिधिमंडल बृहस्पतिवार को ग्रेटर नोएडा पहुंचा। प्रतिनिधिमंडल को एयरपोर्ट के अनुमानित ट्रैफिक, आर्थिक उपयोगिता, परियोजना के लिए केंद्र व राज्य सरकार से ली गई अनापत्ति जमीन अधिग्रहण की स्थिति एवं प्रक्रिया की जानकारी दी गई। इसके साथ ही प्रतिनिधिमंडल को जानकारी दी कि जेवर एयरपोर्ट परियोजना उनके लिए कितनी संभावनाओं से भरी है। प्रतिनिधिमंडल में शामिल कंपनी के प्रतिनिधियों ने परियोजना को लेकर सकारात्मक रुख दिखाया है।

परियोजना की बिड में शामिल
जेवर एयरपोर्ट परियोजना के नोडल अफसर शैलेंद्र भाटिया ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल में मुख्य रूप से सलाहकार एवं कंसेशनर सलाहकार शामिल हुए। इसके अलावा मुंबई स्थित डिप्टी हाई कमीशन ब्रिटेन के सीनियर ट्रेडिंग कंसल्टेंट दीपेंद्र जैन व दिल्ली स्थित ब्रिटिश हाइकमीशन से मुकुल वर्मा शामिल थे। प्रतिनिधिमंडल में शामिल कंपनियां विमानन क्षेत्र में विभिन्न देशों में अपनी सेवाएं दे रही हैं। कंपनियों ने परियोजना की बिड में शामिल होने की रुचि दिखाई है।

18 कंपनियों के प्रतिनिधि हुए शामिल
प्रतिनिधिमंडल में जेएलटी, एआइक्यू, आइसीएफ, मैक, नेट्स समेत 18 कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल थे। इसके अलावा परियोजना के नोडल अफसर शैलेंद्र भाटिया, पीडब्ल्यूसी के अधिकारी शामिल हुए। इसी माह ज्यूरिख एयरपोर्ट का संचालन कर रही कंपनी के प्रतिनिधि भी निआल सीईओ के साथ बैठक करेंगे। शनिवार को यमुना प्राधिकरण चेयरमैन डा. प्रभात कुमार ने जेवर एयरपोर्ट परियोजना के बिड डॉक्यूमेंट को लेकर बैठक बुलाई है।

 

Leave a Reply