ग्रेटर नोएडा, गौतम बुद्ध नगर के- जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा: प्रभावित आठ गांवों को शिफ्ट किया गया, पर्यावरण मंत्रालय हरी झंडी का इंतजार

ग्रेटर नोएडा, गौतम बुद्ध नगर के- जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा: प्रभावित आठ गांवों को शिफ्ट किया गया, पर्यावरण मंत्रालय हरी झंडी का इंतजार- महीने के पहल सप्ताह से ( जून ) में ही पर्यावरण मंत्रालय की अनापत्ति भी मिलने की उम्मीद है। प्राधिकरण मंत्रालय में पहले ही आवेदन कर चुका है।

जेवर , ग्रेटर नोएडा, गौतम बुद्ध नगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया से प्रभावित होने वाले आठ गांवों के 1950 परिवार को शिफ्ट कर दिया गया है। प्राधिकरण ग्रामीणों के पुनर्वास की योजना तैयार कर रहा है।

जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया से प्रभावित होने वाले आठ गांवों में गौतमबुद्ध विश्व विद्यालय की टीम ने सर्वे किया था। टीम ने अधिग्रहण के कारण ग्रामीणों के सामाजिक जीवन पर पडऩे वाले प्रभाव का आकलन किया था। सर्वे में 2952 परिवार चिह्नित किए गए थे, जिन्हें शिफ्ट किया जाना था। लेकिन आठ गांवों में एक गांव आंशिक रूप से अधिग्रहण से प्रभावित है। इसलिए प्रभावित परिवार 1950 रह गए हैं।

सामाजिक प्रभाव आकलन रिपोर्ट के मूल्यांकन के लिए शासन स्तर से समिति का गठन हो चुका है। समिति की जल्द ही बैठक हो सकती है। इसके अलावा एसडीएम जेवर जमीन अधिग्रहण से प्रभावित किसानों के पुनर्वास पर उनकी प्रतिक्रिया एवं आपत्ति लेंगे। ग्रामीणों की आपत्ति निस्तारण के बाद ही पुनर्वास योजना को अंतिम रूप दिया जाएगा।

 

Leave a Reply